“जब राम टेंट में तो सरकार बंगले में क्यो” -राम मंदिर पर बीएचयू के छात्रों का अनोखा विरोध ??

आज काशी हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रों ने श्री इतेंद्र चौबे बाबा के नेतृत्व में माननीय प्रधानमंत्री जी को तिरपाल डाक द्वारा प्रेषित किया ।
छात्रों का कहना था कि प्रभु श्री राम 1992 से ही अपनी जन्मभूमि पर तिरपाल में अवस्थित है ।अयोध्या में भव्य राममंदिर के निर्माण की आशा में हिन्दू जनमानस ने भाजपा को प्रचंड बहुमत से विजयी कराया था ।कानूनी प्रक्रिया लम्बी चलने के कारण हिन्दू समाज सरकार से यह निरन्तर मांग कर रहा है कि कानून बना कर मंदिर का निर्माण किया जाए किंतु एक न्यूज चैनल को दिए साक्षात्कार में प्रधानमंत्री जी ने कानूनी प्रक्रिया पूरी होने की प्रतीक्षा की बात की ।इस बयान ने हिन्दू समाज को गहरा आघात पहुचाया है ।इस लिए छात्रों ने समस्त जनप्रतिनिधियों को टेंट भेजने का निर्णय किया है ।जब राम लाला तिरपाल में हो तो उनके भक्त सरकारी सुविधाओं में कैसे रह सकते हैं ।
श्री इतेंद्र चौबे ने कहा कि “राम भारत के प्राण पुरुष है।सभी हिन्दुओ के आराध्य एवं भारतीय जीवन दर्शन के आआदर्श पुरुष है ।अगर इष्ट देव तिरपाल में रहे तो उनके भक्त सरकारी बंगले में कैसे रह सकते है उन्हें भी तिरपाल में रहना चाहिए ।जो लोग खुद को रामराज्य का वाहक कहते हैं ,स्वयं को राम का वंशज कहते हैं वे सत्ता में भगवान राम को भूल जा रहे ।इसलिए हम लोगो ने तय किया है कि प्रत्येक सांसद ,विधायक,मंत्री सभी को टेंट भेजेंगे और उनसे आशा करेंगे कि जब तक कानूनी प्रक्रिया पूरी ना हो वे सभी सुविधाओ का त्याग कर तिरपाल में ही रहे ।”
इस अवसर पर ढेर सारे छात्र उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *